गुदा से रक्तस्राव - Rectal Bleeding मल में रक्त - Blood in Faeces
पाचन स्वास्थ्य

गुदा से रक्तस्राव - Rectal Bleeding मल में रक्त - Blood in Faeces

गुदा से रक्तस्राव होने के अनेक कारण हैं। गंभीरता हल्के रक्तस्राव (सामान्य) से लेकर गंभीर (असामान्य) हो सकता है, जिससे जीवन को खतरा उत्पन्न हो सकता हैं। यदि अत्यधिक रक्तस्राव होना जारी रहता है या यदि आपके मल (विष्ठा) काले रंग का होता हैं – जो पेट में ऊपर से पुराने रक्तस्राव के कारण होता है- उस स्थिति में आपको तत्काल डॉक्टर से परामर्श करना चाहिए या एम्बुलेंस को बुलाना चाहिए। हालांकि, इस स्थिति में अक्सर कम रक्तस्राव होता है। इस स्थिति में, अपने डॉक्टर से परामर्श करें ताकि वह कारणों का पता लगा सके।

गुदा से रक्तस्राव - Rectal Bleeding

मल में रक्त - Blood in Faeces

  • गुदा रक्तस्राव क्या है?
  • आहारनली क्या है?
  • गुदा रक्तस्राव / जीआई मार्ग में रक्तस्राव का प्रकार
  • गुदा रक्तस्राव / जीआई मार्ग में रक्तस्राव का क्या कारण हैं?
  • अगर मेरे गुदा से रक्तस्राव हो रहा है, तो मुझे क्या करना चाहिए?
  • किन जाँचों को करवाने की सलाह दी जा सकती है?
  • फीकल ओक्कुल्ट ब्लड रक्त (एफओबी) परीक्षण क्या है?
  • गुदा रक्तस्राव के लिए उपचार क्या है?

गुदा रक्तस्राव क्या है?

गुदा रक्तस्राव नामक शब्द का इस्तेमाल डॉक्टरों द्वारा किया जाता है, जिसका मतलब है कि जब आप शौच (मल) त्याग करने के लिए शौचालय जाते हैं, तो मल-त्याग के दौरान आपके गुदा से रक्तस्राव होता है। हालांकि, स्रावित होने वाले सभी रक्त वास्तव में पीछे के मार्ग (मलाशय) से नहीं आता है। रक्त पेट में कहीं से भी आ सकता है। हालाँकि, इसे व्यक्त के लिए सबसे सही शब्द “गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल ट्रैक्ट ब्लीडिंग”जिसे अक्सर संक्षेप में जीआई लिखा जाता है। गुदा से रक्तस्राव (जीआई रक्तस्राव) होने के अनेक कारण हैं, जिनके बारे बाद में चर्चा की गई है।

आहारनली क्या है?

आहारनली (जठरांत्र संबंधी मार्ग) मुँह से शुरू होता है और गुदा पर जाकर समाप्त होता है। जब हम खाते या पीते हैं, तो भोजन और तरल पदार्थ पेट में गुलेट (ग्रासनली) में जाती है। पेट भोजन को तोड़ना शुरू करता है और फिर इसे छोटी आंत में भेजता है।

छोटी आंत (जिसे कभी-कभी छोटे आंत्र कहा जाता है) कई मीटर लंबी होती है और जहाँ भोजन पचता और अवशोषित होता है। उसके बाद अपचित भोजन, पानी और अपशिष्ट पदार्थ बड़ी आंत में पहुँचता है (जिसे कभी-कभी बृहद आंत्र कहा जाता है)। बड़ी आंत के मुख्य हिस्से को कोलन कहा जाता है, जो कि लगभग 150 सेमी लंबा होता है। यह चार वर्गों में विभाजित होता है: आरोही, अनुप्रस्थ, अवरोही और सिग्माइड बृहदान्त्र। कुछ पानी और लवण शरीर में बृहदान्त्र से अवशोषित होते हैं। बृहदान्त्र पिछले मार्ग (मलाशय) से मिलता है जो लगभग 15 सेमी लंबा होता है। गुदा से गुज़रने से पहले मलाशय विष्ठा (मल) को भंडारित करता है।

गुदा रक्तस्राव / जीआई मार्ग में रक्तस्राव का प्रकार

जब आपको जीआई रक्तस्राव होता है, तो डॉक्टर को निम्नलिखित चीजों का आकलन करने की आवश्यकता होती है:

रक्तस्राव कितना खराब (गंभीर) है

रक्त स्राव में एक हल्का रिसाव से लेकर बहुत अधिक (रक्तस्राव) हो सकता है, जिससे जीवन खतरे में पड़ सकता है। अधिकांश मामलों में हल्का और रूक-रूक कर रक्तस्राव होता हैं। इस स्थिति में, यदि किसी भी जाँच की जरूरत होती है, तो उस जाँच को एक आउट पेशेंट के रूप में किया जा सकता है। हल्के, रूक-रूक कर होने वाले जीआई रक्तस्राव से जीवन को कोई तात्कालिक जोखिम नहीं होता है। हालाँकि, यदि बहुत अधिक रक्त-स्राव हो रहा है, तो हमेशा एक चिकित्सक को रिपोर्ट करें, क्योंकि बहुत अधिक रक्त की हानि होने पर तुरंत उपचार की आवश्यकता होती है।

कभी-कभी किसी स्थिति के कारण आहारनली (जीआई मार्ग) में होने वाला रक्तस्राव इतना कम (एक पतले रिसाव के समान) होता है कि आप किसी भी वास्तविक रक्तस्राव को नहीं देखते हैं और यह आपके मल (विष्ठा) के रंग को बदलने के लिए पर्याप्त नहीं होता है। हालाँकि, आपके मल की एक जाँच कर रक्त की थोड़ी मात्रा का भी पता लगाया जा सकता है। यह परीक्षण विभिन्न स्थितियों (बाद में वर्णन किया गया है) में किया जा सकता है।

रक्तस्राव कहाँ से हो रहा है

रक्तस्त्राव जीआई मार्ग में कहीं से भी आ सकता है। एक सामान्य नियम के रूप में

  • गुदा या पिछले हिस्से (मलाशय) से रक्तस्राव होने पर - रक्त लाल और ताजा चमकदार होता है। यह मल के साथ मिश्रित नहीं हो सकता है, लेकिन इसके स्थान पर आप मल-त्याग करने के बाद रक्त को देख सकते हैं, या रक्त के बूंदों से ढंके हुए मल को देख सकते हैं। उदाहरण के लिए, anal tear (fissure) (गुदा के फटने (विदर)) या haemorrhoids(बवासीर) (बाद में वर्णित) से रक्तस्राव होना।
  • बृहदान्त्र से रक्तस्राव होने की स्थिति में - रक्त अक्सर मल के साथ मिश्रित रहता है। रक्त का रंग अधिक गहरा लाल हो सकता है। उदाहरण के लिए, बृहदांत्रशोथ, डिवेंचरिक्यूलर बीमारी या आंत्र ट्यूमर से रक्त बह रहा है। हालांकि, कभी-कभी, यदि रक्त स्राव तेज होता है तो आपको मल के साथ अधिक रक्त मिश्रित नहीं दिखाई देगा। उदाहरण के लिए, यदि आपके डायवर्टिकुलम (बाद में वर्णन किया गया है) से अचानक अधिक रक्तस्राव होता है।
  • पेट या छोटी आंत से रक्तस्राव हो रहा है – रक्त को बाहर निकलने से पहले लंबी यात्रा करनी पड़ती है। ऐसा करने में समय लगता है और इस दौरान रक्त का बदलकर गहरा हो जाता है और रक्त मल के साथ मिश्रित हो जाता है। इससे आपके मल का रंग काला या बेर के रंग का हो सकता हैं - इसे रुधिरकालामल कहा जाता है। उदाहरण के लिए, ऐसा पेट से होने वाले रक्तस्राव या ग्रहणी संबंधी अल्सर के कारण हो सकता है। नोट: यदि आपको रुधिरकालामल है तो यह एक चिकित्सा आपातकालीन स्थिति है, क्योंकि यह आमतौर पर पेट या ग्रहणी से होने वाले अत्यधिक रक्तस्राव की ओर संकेत करता है। यदि आपको संदेह है कि आपको रुधिरकालामल है तो आपको तुरंत एक डॉक्टर से परामर्श करना चाहिए।

रक्तस्राव का कारण

रक्तस्राव के मुख्य संभावित कारणों की पहचान करने के लिए डॉक्टर आपसे विभिन्न प्रश्न पूछ सकता है। इसलिए, उदाहरण के लिए, आपसे संभावित लक्षणों के बारे में पूछा जा सकता है। आपसे निम्नलिखित के बारे में पूछा जा सकता है:

  • क्या आपको दर्द हो रहा है।
  • यदि आपको दर्द हो रहा है, तो यह दर्द कहाँ हो रहा है और दर्द का प्रकार कैसा है?
  • आपके निचले अंगों में कोई जलन या खुजली।
  • आपके मल में कोई बदलवा, जैसे डायरिया या कब्ज।
  • वजन में कमी।
  • आपके परिवार में क्या आन्त्रशोध की बीमारी का इतिहास रहा है।

उसके बाद डॉक्टर द्वारा आपकी जाँच करने की संभावना होती है। इसमें आपके गुदा में दस्ताने-युक्त हाथ की अंगुली डाल कर आपके पिछले हिस्से (गुदा और मलाशय) की जांच की जा सकती है। कभी-कभी वे आपके पिछले हिस्से में थोड़ा अंदर तक देखने के लिए एक उपकरण का उपयोग कर सकते हैं जिसे एक प्रॉक्टोजस्कोप कहा जाता है। कभी-कभी, इसके बाद उपचार किया जा सकता है। उदाहरण के लिए, एक गुदा में दरार या पाइल (बवासीर) का उपचार किया जा सकता है। हालाँकि, कारणों को स्पष्ट करने के लिए आगे सामान्य परीक्षणों की आवश्यकता हो सकती है। इसका कारण यह है कि अंगुली डाल कर या प्रॉक्टोजस्कोप द्वारा आपके जीआई मार्ग की थोड़ी अंदर तक जाँच की जा सकती है। यदि कोई कारण नहीं पाया जाता है, तो रक्तस्राव ऊपर से आ रहा हो सकता है।

गुदा रक्तस्राव / जीआई मार्ग में रक्तस्राव का क्या कारण हैं?

इसके कई संभावित कारण हैं। नीचे अधिक सामान्य कारणों का एक संक्षिप्त विवरण दिया गया है:

पाइल (बवासीर)

बवासीर एक प्रकार का सूजन है, जो गुदा और निचले हिस्से (निचले मलाशय) में हो सकता है। गुर्दे और निचले मलाशय के भीतर अंदर की ओर छोटी-छोटी रक्त वाहिकाओं (नसों) का एक नेटवर्क है। ये नसें कभी-कभी अधिक चौड़ी हो जाती हैं और इनमें सामान्य से अधिक रक्त भर जाता हैं। ये सूजे हुए (रक्तसंकुल) नसें और ऊपर की ऊतकें तब बवासीर नामक एक या अधिक छोटे सूजनों को उत्पन्न कर सकती हैं। हेमोराहॉड्स बहुत आम हैं और बहुत से लोगों में कुछ स्तर पर एक या अधिक रक्तस्राव विकसित होता हैं। छोटा रक्तस्रावी आमतौर पर दर्द रहित होता हैं। शौचालय जाने के बाद सबसे आम लक्षण में रक्तस्राव होना शामिल है। बड़ा बवासीर के कारण एक श्लेष्म का रिसाव, कुछ दर्द, जलन और खुजली उत्पन्न कर सकता है। Piles (Haemorrhoids) के अधिक विवरणों के लिए अलग लीफलेट में देखिए।.

गुदा में दरार

गुदा में दरार उत्पन्न होना वास्तव में गुदा की त्वचा को थोड़ा फटने को सूचित करता है। यद्यपि एक गुदा का फटना आमतौर पर छोटा होता है (आमतौर पर सेंटीमीटर से कम), परंतु यह बहुत दर्दनाक हो सकता है क्योंकि गुदा बहुत ही संवेदनशील होता है। अक्सर गुदा में दरार होने पर अल्प मात्रा में रक्तस्राव होता है। आप मल (विष्ठा) त्याग करने के बाद रक्त को देख सकते हैं। रक्त आमतौर पर चमकदार लाल होता है और टॉयलेट टिश्यू पर अपना दाग छोड़ देता है लेकिन जल्द ही बंद हो जाता है। Anal Fissure के अधिक विवरणों के लिए अलग लीफलेट में देखिए।.

डाइवर्टिक्युला

डाइवर्टिक्युलम एक संकरे गर्दन वाला एक छोटा पाउच होता है, जो आंत्र (आंत) के दीवारों से चिपका रहता है। डाइवर्टिक्युला नामक शब्द का इस्तेमाल एक से अधिक डाइवर्टिक्युलम को सूचित करने के लिए किया जा सकता है। वे आंत्र के किसी भी भाग में विकसित हो सकते हैं परंतु अक्सर बृहदान्त्र में उत्पन्न होते है। समय बीतने के साथ अनेक डाइवर्टिक्युला उत्पन्न हो सकता है। एक डाइवर्टिक्युलम में से कभी-कभी ही रक्तस्राव होता है और आपके गुदा से कुछ रक्तस्राव हो सकता है। रक्तस्राव अक्सर अचानक और दर्द-रहित होता है। रक्तस्राव रक्त-वाहिकाओं के फटने के कारण होता है और कभी-कभी डाइवर्टिक्युलम की दीवारों में होता है और इस प्रकार बहुत अधिक मात्रा में रक्त की हानि हो सकती हैं। डाइवर्टिक्युला के कारण अन्य लक्षण भी उत्पन्न हो सकता है जैसे कि पेट में दर्द होना और सामान्य मल-त्याग की आदतों में परिवर्तन होना। Diverticula (including Diverticulosis, Diverticular Disease and Diverticulitis) के अधिक विवरणों के लिए अलग लीफलेट में देखिए ।

क्रोहन रोग

क्रोहन रोग एक ऐसी स्थिति है जिसमें पेट में सूजन उत्पन्न हो जाता है। समय-समय पर बीमारी तीव्र हो सकती है। प्रभावित आंतों और स्थिति की गंभीरता के आधार पर लक्षण अलग-अलग होता हैं। आम लक्षणों में रक्त-युक्त दस्त, पेट (उदरीय) का दर्द और अस्वस्थता महसूस करना है। Crohn's Disease के अधिक विवरणों के लिए अलग लीफलेट में देखिए।

अल्सरेटिव बृहदांत्रशोथ और बृहदांत्रशोथ के अन्य रूपों

अल्सरेटिव बृहदांत्रशोथ (यूसी) एक ऐसी बीमारी है जिसमें बृहदान्त्र और मलाशय में सूजन विकसित होती है। जब रोग तीव्र होता है, तो इसका एक समान्य लक्षण रक्त के साथ डायरिया मिला हुआ होता है। रक्तस्राव अल्सर से होता हैं जो सूजे हुए आंत्र के अंदर की दीवार पर विकसित होता हैं। बृहदान्त्र (बृहदांत्रशोथ) के सूजन या मलाशय के सूजन (प्रोक्टाइटिस) के अन्य दुर्लभ कारण हो सकते हैं, जिसके कारण गुदा से रक्तस्राव हो सकता हैं। Ulcerative Colitis के अधिक विवरणों के लिए अलग लीफलेट में देखिए।

पॉलिप

आंत्र पॉलिप एक छोटा-सा विकास है जो कभी-कभी बृहदान्त्र या मलाशय के अन्दर की परत पर उत्पन होता है। यह ज्यादातर वृद्ध लोगों में विकसित होता हैं। कूपर गैर-कैंसरकारी (सौम्य) होता हैं और आमतौर पर इससे कोई समस्या नहीं होती है। हालांकि, कभी-कभी एक पॉलिप से रक्तस्राव हो सकता है और कभी-कभी एक पॉलीप कैंसर-कारी भी हो सकता है। Bowel (Colonic) Polyps के अधिक विवरणों के लिए अलग लीफलेट में देखिए।

कैंसर

बृहदान्त्र और मलाशय के कैंसर वृद्ध लोगों में आम कैंसर हैं। कभी-कभी यह युवाओं को भी प्रभावित करता हैं। गुदा से रक्तस्राव एक लक्षण है जो विकसित हो सकता है। रक्त-स्राव अक्सर दिखाई नहीं देता है (अदृश्य- बाद में देखें) और रक्तस्राव होने से पहले दिखाई देने वाले अन्य लक्षण अक्सर मौजूद होते हैं। उदाहरण के लिए, वजन कम होना, रक्त की कमी (anaemia) (एनीमिया), दस्त या कब्ज के कारण थकान। बृacहदान्त्र के ऊपर से पेट के अन्य हिस्सों में कैंसर होने से कभी-कभी गुदा से रक्त-स्राव हो सकता है लेकिन यह असामान्य हैं। Bowel (Colorectal) Cancer के अधिक विवरणों के लिए अलग लीफलेट में देखिए।

एंजियोडिस्प्लासिआ

एंजियोडिस्प्लासिआ एक ऐसी स्थिति है जिसमें आपके बृहदान्त्र के अंदरूनी परत के भीतर अनेक बढ़ी हुई रक्त वाहिकाएं विकसित होती हैं। एंजियोडिस्प्लासिआ सबसे अधिक आरोही (दाएं) बृहदान्त्र में विकसित होता है, लेकिन यह बृहदान्त्र में कहीं भी विकसित हो सकता हैं। इसका कारण अज्ञात है, लेकिन ये सामान्यतः रूप से वृद्ध लोगों में होता है। एंजियोडिस्प्लेसिया से होने वाला रक्तस्राव दर्द रहित होता है। रक्त स्राव चमकदार लाल रंग से लेकर, मल के साथ मिश्रित काला रक्त या काला या बेर के रंग का मल (रुधिरकालामल) हो सकता है। एंजियोडिज़प्लासिया भी अदृश्य (मनोगत) रक्त की हानि (नीचे देखें) का कारण हो सकता है।

आंत की असामान्यताएं

आंत्र या आंत की दीवार के विभिन्न असामान्यताओं के कारण छोटे बच्चों में गुदा से रक्तस्राव हो सकता है। उदाहरणों में शामिल हैं:

  • वोल्वुलुस – आंत में मोड़
  • इन्टस्ससेप्शन - पेट का एक हिस्सा दूसरे में प्रविष्ट रहता है, और एक रुकावट उत्पन्न करता है।
  • मेकेल की डिवर्टिकुलम – यह जन्म से (जन्मजात) मौजूद छोटी आंत, में एक अतिरिक्त उभार या थैली होता है।
  • हिर्शसप्रंग रोग - एक ऐसी स्थिति है जहाँ निचले आंत का एक हिस्सा ऐसा काम नहीं करता है जितना उसे करना चाहिए। आंत्र की दीवारों की मांसपेशियां मल के साथ निचोड़ने में असमर्थ होती हैं, जैसा कि उन्हें प्राकृतिक रूप से करना चाहिए।
  • असामान्य रक्त वाहिकाओं का विकास

पेट और ग्रहणी संबंधी अल्सर

ulcer in the stomach(पेट में एक अल्सर) या duodenum(ग्रहणी) पर रक्तस्राव हो सकता है। यह मेलेना का कारण बन सकता है - जहाँ आपके मल का रंग काला या बेर के रंग का हो सकता हैं, जैसा कि पहले बताया गया था।

कुछ आंत्र संक्रमण

इसमें आंत्र की सूजन के कारण रक्त-युक्त दस्त हो सकता है, जो कुछ संक्रमणों के कारण उत्पन्न होता है।

इसके अनेक अन्य दुर्लभ कारण भी हैं।

अगर मेरे गुदा से रक्तस्राव हो रहा है, तो मुझे क्या करना चाहिए?

डॉक्टर से परामर्श करें। यदि अत्यधिक मात्रा में रक्तस्राव जारी रहता है, या यदि आपका मल काले या बेर के रंग का होता है मिलेना (ऊपर वर्णित) है, तो तुरंत एक डॉक्टर को दिखाएं या एम्बुलेंस को बुलाएं। यदि आपको चक्कर आ रहा है, या आप चक्कर के कारण गिर रहे हो या आम तौर पर अस्वस्थ महसूस कर रहे हो, तो एक एम्बुलेंस को बुलाने पर विचार, क्योंकि यह अत्यधिक मात्रा में रक्तस्राव का संकेत हो सकता है। हालांकि, अक्सर रक्तस्राव हल्का होता है। इस स्थिति में, जल्द ही अपने डॉक्टर के साथ परामर्श करें। कुछ लोग मानते हैं कि उनके गुदा से रक्तस्राव बवासीर (रक्तस्राव) के कारण होता है और इसलिए वे इसकी जाँच नहीं करवाते हैं। हार्मोराइड शायद रेचक रक्तस्राव का सबसे आम कारण है। हालाँकि, आपको ऐसा नहीं मानना चाहिए कि रक्तस्राव एक बवासीर से हो रहा है जब तक कि डॉक्टर द्वारा आपका उचित प्रकार से मूल्यांकन नहीं किया जाता है।

किन जाँचों को करवाने की सलाह दी जा सकती है?

यह रक्तस्राव के संभावित कारणों पर निर्भर करता है। इसका निर्धारण डॉक्टर आपसे (आपके इतिहास के बारे में) बात कर कर और एक परीक्षण लेकर करेगा । आमतौर पर निम्नलिखित परीक्षणों में से एक को करवाने का सुझाव दिया जाता है:

  • सिग्मोडीस्कोपी। .
  • कोलोनोस्कोपी .
  • वर्चुअल कॉलोनोस्कोपी (सीटी कॉलोनोग्राफी)

कोलोनोस्कोपी क्या है?

कोलनोस्कोपी एक जाँच है जहाँ एक ऑपरेटर (एक डॉक्टर या नर्स) आपके बृहदान्त्र में देखते है। आमतौर पर आपको इस परीक्षण के लिए सुलाया नहीं जाता हैं; हालांकि, आपको नींद लाने के लिए इंजेक्शन (शामक) दिया जाएगा।

कोलोनस्कोप एक पतली, लचीली दूरबीन है। यह लगभग अंगुली के समान मोटी होती है। यह गुदा के माध्यम से और बृहदान्त्र से होकर गुजरती है। इसे बृहदान्त्र के अंदर से जहाँ छोटी और बड़ी आंतें मिलती हैं (कैक्यूम) के अंदर तक प्रविष्ट कराया जा सकता है।

कॉलोनोस्कोप में फाइबर ऑप्टिक चैनल शामिल हैं जो प्रकाश को अंदर चमकने में मदद करता हैं ताकि ऑपरेटर आपके बृहदान्त्र के अंदर देख सकें। यह या तो कॉलोनोस्कोप को देख कर या टीवी मॉनीटर को कॉलोनोस्कोप से जोड़कर किया जाता है।

कॉलोनोस्कोप के पास एक साइड चैनल भी होता है जिससे होकर डिवाइस गुजर सकता हैं। इनका उपयोग ऑपरेटर द्वारा किया जा सकता है। उदाहरण के लिए, ऑपरेटर एक पतली पकड़ने वाले यंत्र का उपयोग करके बृहदान्त्र के अंदर की परत से एक छोटा सा नमूना (बायोप्सी) ले सकता है जिसे एक साइड चैनल के माध्यम से गुजारा जाता है। Colonoscopy के अधिक विवरणों के लिए अलग लीफलेट में देखिए।.

सिग्मायडोस्कोपी क्या है?

सिग्मोयॉइड बृहदान्त्र आंत्र का अंतिम भाग है जो मलाशय से जुड़ता है। एक सिग्मोओडोस्कोप आपकी उंगली की मोटाई के बराबर एक छोटा दूरबीन है जिसके एक सिरे पर प्रकाश स्रोत जुड़ा रहता है। यह एक कॉलोनोस्कोप के समान है, लेकिन बहुत छोटा होता है। कोलोनॉस्कोपी की तुलना में एक सिगोमाइडोस्कोपी को करना आसान है। इसे कॉलोनोस्कोपी के स्थान पर किया जा सकता है अगर रक्तस्राव के निचले बृहदान्त्र या मलाशय से आने का संदेह होता है। एक डॉक्टर या नर्स गुदा में सिग्माइडोस्कोप को प्रविष्ट कराता है और धीरे-धीरे इसे मलाशय और सिग्माइड बृहदान्त्र में धकेलता है। यह डॉक्टर या नर्स को मलाशय और सिग्माइड बृहदान्त्र के अस्तर को देखने में मदद करता है। यह प्रक्रिया आमतौर पर दर्दनाक नहीं होती है लेकिन यह थोड़ा असहज हो सकता है। Sigmoidoscopy के अधिक विवरणों के लिए अलग लीफलेट में देखिए।.

वर्चुअल कॉलोनोस्कोपी क्या है?

एक वर्चुअल कॉलोनोस्कोपी (जिसे सीटी कॉलोनोग्राफी भी कहा जाता है) एक नवीन परीक्षण है। यह डॉक्टर को बृहदान्त्र में ट्यूब को प्रविष्ट कराएं बिना ही बृहदान्त्र को अच्छी तरह से देखने की अनुमति देता है। इस प्रक्रिया में एक ट्यूब को पीछे के मार्ग (गुदा) से प्रविष्ट कराया जाता है, लेकिन इसे आगे बढ़ाने की ज़रूरत नहीं होती है। इस ट्यूब के साथ, इसे खोलने के लिए एक गैस को आंत्र में धकेला जाता है। उसके बाद आंत्र का एक सीटी स्कैन किया जाता है। यह परीक्षण पारंपरिक कोलोरोस्कोपी की तुलना में कम असहज होता है और इसे बेहतर तरीके से सहन किया जा सकता है। इसका उपयोग आमतौर पर उन लोगों के लिए किया जाता है, जो अधिक कमजोर होते हैं और कॉलोनोस्कोपी को बर्दाश्त करने में सक्षम नहीं होते है। हालाँकि यह सभी क्षेत्रों में उपलब्ध नहीं है।Colonography के अधिक विवरणों के लिए अलग लीफलेट में देखिए ।

फीकल ओक्कुल्ट ब्लड रक्त (एफओबी) परीक्षण क्या है?

एफओबी परीक्षण आपके मल (विष्ठा) में अल्प मात्रा में रक्त का पता लगाता है जिसे आप सामान्य रूप से नहीं देख पाएंगे या इसके बारे में नहीं जान पाएंगे।

एफओबी परीक्षण कब और क्यों किया जाता है?

जैसा कि चर्चा की गई है, ऐसे अनेक विकार हैं जिसके कारण पेट में रक्तस्राव हो सकता है। इनके कारण मलाशय से रक्तस्राव हो सकता है जिसे आप देख सकते हैं। हालांकि, कुछ लोगों में इन विकारों के कारण केवल अल्प मात्रा में रक्त-स्राव हो सकता है। यदि आपके मल में बहुत कम रक्त होता है तो मल सामान्य दिखता हैं। हालांकि, एफओबी परीक्षण से रक्त का पता लगाया जा सकता है। इसलिए, अगर आप अन्य लक्षणों को महसूस करते हैं जो पेट की समस्या की ओर संकेत करता हैं तो यह परीक्षण किया जा सकता है। उदाहरण के लिए, लगातार पेट (उदरीय) दर्द, वजन घटाने, आदि। यह भी किसी भी लक्षण के विकास से पहले आंत्र कैंसर की जाँच करने के लिए किया जा सकता है (नीचे देखें)।

नोट: एफओबी परीक्षण केवल यह कह सकता है कि आपके पेट में कहीं से रक्तस्राव हो रहा हैं। यह किस भाग से नहीं बता सकता। यदि परीक्षण सकारात्मक होता है तो आमतौर पर रक्तस्राव के स्रोत का पता लगाने के लिए और अधिक परीक्षण किए जाएंगे। उदाहरण के लिए, कोलोनॉस्कोपी।

एफओबी परीक्षण कैसे किया जाता है?

मल के एक छोटे से नमूने को कार्ड के एक टुकड़े पर रखा जाता है। शौचालय के ऊतकों से कुछ को खरोंचने के लिए एक छोटे से खुरचनी का उपयोग करके आप एक नमूना प्राप्त करते हैं जिसका इस्तेमाल आपने शौचालय जाने के बाद किया है। नमूना कार्ड पर नमूने में एक रसायन डालकर परीक्षण किया जाता है। यदि रासायन डालने ने के बाद मल के रंग में कोई बदलाव आता है, तो यह इंगित करता है कि कुछ रक्त मौजूद है।

आम तौर पर दो या तीन एफओबी परीक्षण अलग-अलग दिनों से प्राप्त मल के दो या तीन अलग-अलग नमूनों पर किया जाता है। इसका कारण यह है कि आंतों से रक्तस्राव अनियमित रूप से हो सकता है। इसलिए, प्रत्येक नमूने में रक्त मौजूद नहीं हो सकता है। कई दिनों में दो या तीन नमूनों की एक श्रृंखला रक्तस्राव से सम्बंधित पेट की बीमारी का पता लगाने में अधिक सटीक हो सकती है।

Faecal Occult Blood test के अधिक विवरणों के लिए अलग लीफलेट में देखिए। .

आंत्र कैंसर के लिए स्क्रीनिंग

स्क्रीनिंग का मतलब स्वस्थ लोगों में किसी विशेष बीमारी के शुरुआती लक्षणों की तलाश करना है, जिनके पास कोई लक्षण नहीं है और जब उपचार की संभावना उपचारात्मक होती है। आंत्र कैंसर (कोलोरेक्टल कैंसर) स्क्रीनिंग का लक्ष्य प्रारंभिक चरण में कोलोरेक्टल कैंसर का पता लगाना है, जहाँ कैंसर का उपचार होने का उचित अवसर मौजूद होता है।

यूके में कुछ आयु समूहों के लिए एक स्क्रीनिंग प्रोग्राम है। इसमें रक्त की उपस्थिति का पता लगाने के लिए आपके मल के तीन नमूनों का परीक्षण करना शामिल है। यूके के विभिन्न भागों में आयु समूह थोड़ा अलग-अलग है। यदि आप प्रासंगिक आयु समूहों में से हैं, तो आपको आटोमेटिक रूप से एक आमंत्रण और फिर एफओबी स्क्रीनिंग किट भेजा जाएगा, ताकि आप घर पर जाँच कर सकें। अपनी पहली स्क्रीनिंग टेस्ट के बाद, आपको अधिकतम दो वर्षों के बाद प्रत्येक दो वर्ष पर एक और आमंत्रण और स्क्रीनिंग किट भेजा जाएगा, जब तक आप अधिकतम आयु के नहीं हो जाते है। यदि आप स्क्रीनिंग कार्यक्रम में शामिल होना जारी रखना चाहते हैं, तो आप आगे की किटों के लिए अनुरोध कर सकते हैं।

Screening for Bowel (Colorectal) Cancer के अधिक विवरणों के लिए अलग लीफलेट में देखिए। .

गुदा रक्तस्राव के लिए उपचार क्या है?

उपचार बीमारी के कारणों पर निर्भर करता है। विभिन्न रोगों पर अलग-अलग लीफलेट देखें जिसके कारण गुदा से रक्तस्राव हो सकता हैं।

अस्वीकरण: यह चिकित्सकों द्वारा समीक्षा किये गए मूल अंग्रेजी लेख का अनुवाद है। हमने सभी लोगों कि जानकारी के लिए जितना संभव हो उतना हमारे लेखों का अनुवाद किया है। तथापि, अनुवाद में कुछ गलतियाँ हो सकती हैं। इस कारण से हम सटीकता, विश्वसनीयता या समय अनिश्चितता की गारंटी नहीं दे सकते। यदि मूल अंग्रेजी लेख और अनुवाद के बीच कोई विरोधाभास है, तो मूल अंग्रेज़ी संस्करण हमेशा प्रबल माना जाएगा । इस आलेख को अंग्रेजी में पढ़ेढ़े

Did you find this information useful? yes no

Thank you, we just sent a survey email to confirm your preferences.

Further reading and references

  • Rectal bleeding: commissioning guide; Royal College of Surgeons - NICE accredited, 2013

  • Suspected cancer: recognition and referral; NICE Clinical Guideline (2015)

  • GI (lower) cancer - suspected; NICE CKS, June 2009 (UK access only)

  • Haemorrhoids; NICE CKS, September 2012 (UK access only)

  • Burling D, East JE, Taylor SA; Investigating rectal bleeding. BMJ. 2007 Dec 15335(7632):1260-2.

सिकल सेल रोग और सिकल सेल एनीमिया

सिकल सेल रोग सिकल सेल एनीमिया